Category Archives: Ashish Pandey Seo

Ashish pandey

ये आसु जो तेरी जुदाई मे बहते है,
हो के भी दूर हम साथ साथ चलते है……….
                                                         Created with Nokia Smart Cam

Continue reading

Advertisements

Ashish

हमारे द्वारा लिखे गए कुछ हमारे ही विचार.

 

एक अन्जान सा चेहरा कुछ खास सा लगने लगा है.

रह के दूर मुझसे पास सा लगने लगा है.

 

DSC02003

ऊम्मीद करता हु कि उसका प्यार होगा सच्चा

 

बाते करना उससे  मुझे लगता है अच्छा

मोहब्बत के रंग मे रंगने का मन करने लगा है

IMG_0103

एक अन्जान सा चेहरा कुछ खास सा लगने लगा है

सौजन्य से ….
आशीष पाण्डेय

 

Ashish Pandey

हमारे द्वारा लिखे गए कुछ हमारे ही विचार…

उसकी याद पता नही क्यु मेरे दिल से जाती नही

कितना ना समझ हूँ मै..मेरे दिल मे ये बात आती नही

 

                      photo0357

 

फिर मै मागता हूँ जबाब उस खुदा से कि क्या करु अब,

           photo0364
वो कहता है कि ये तो सच्ची मोहब्बत है..

एक बार हो जाये तो फिर कभी जाती नही……

सौजन्य से ….

आशीष पाण्डेयPhoto0191

Ashish

दीवानो की सी है हालत मेरी ..आगे भी रहेगी 
इस दिल मे है जो कसक वो आगे भी रहेगी!

                                      Ashish Pandey

किसी और को देखने का दिल अब नहीं करता है,
इन आँखों मे जो शर्म थी वो आगे भी रहेगी !

                                               Ashish Pandey

दिल चाहता है एक बार कि ,फिर से करो मुझे प्यार,
फिर छोड़ जाने कि इजाजत तुझे आगे भी रहेगी

 

 

सौजन्य से ….


आशीष पाण्डेय

Ashish Pandey Seo



ये दिल जो है बस कहे जा रहा है.. 
बस उसी सख्श का नाम लिये जा रहा है ..
ना जाने क्यु उसे दिल आज भी याद करता है .
मै हूँ उसके पास ..शायद ये दिल बार बार कहता है

                                     
दिन मे ना चैन है.. राते भी कितनी बेचैन है ..
दिन तो फिर भी कट जाते है .रातो को रोते ये मेरे नैन है..
और मेरी आँखों का दरिया बस यही धुन लगाये जा रहा है .. 
ये दिल जो है बस कहे जा रहा है………………


                                   
तुम जो हुए हो तन्हा , मुझे ना करना 
उसकी नादानियों को खुद में समेटे रहना 
मेरी हर शांत धक् धक् के पीछे है उसकी बीती इनायते 

                             
हो गुलज़ार उसकी अदाएं ये हर पल दूआ करना 
तूने जो दी है दुआएँ उसको उन्ही के सहारे वो जिए जा रहा है 
…..
ये दिल जो है बस कहे जा रहा है
 — 
सौजन्य से ….

Personal Thoughts About 2012

Welcome 2013 (स्वागत नहीं करेंगे हमारा ….)

अपनी बात करूँ तो २०१२ हमारे लिए तकलीफ भरा रहाकुछ अच्छी बातें भी हुई और कुछ 


बुरी भीकुछ नए मित्र बने..तो कोई बहुत ख़ास अलग हो गया.

                  
प्रवीन थापा जी की मौत बहुत कष्टदायी हुई….तो वही भतीजा होने की ख़ुशी भी बहुत 

हुईकई सारी बातें सोची और नहीं हुई


                       
कई सारे सवाल अपने मन में लेकर हम नए साल में प्रवेश कर रहे हैं ..उम्मीद करते है की 

यह साल हमारे लिए, आप सब के लिएअच्छा रहे..इन्ही उम्मीदों के साथ .हम सब से 

नमस्कार बोलते है २०१२ को….और स्वागत करते है २०१३ का….आपका अपना …….